बारह दिव्य सेनानायक

बारह दिव्य सेनानायकों की ये मूर्तियाँ 13वीं शताब्दी में बनी बौद्ध प्रतिमाएँ हैं। माना जाता है कि ये दिव्य सेनानायक भारत से थे और दिन के हर समय सब दिशाओं की निगरानी करते थे। हर मूर्ति की अपनी विशेषता है। कार्यक्रम में बताएँगे एनिमेशन से निकले चरित्रों जैसी दिखने वाली इन मूर्तियों की कहानी।