13 वर्ष की आयु में शहीद - ओकिनावा
जापान के सुदूर दक्षिणी प्रिफ़ैक्चर ओकिनावा में माध्यमिक कक्षा के बहुत सारे छात्रों को द्वितीय विश्व युद्ध के अन्तिम दिनों में मोर्चे पर भेजा गया था। उनमें से बहुत सारे छात्र शहीद भी हुए थे। अब तक उनके बारे में विस्तृत जानकारी मौजूद नहीं थी। लेकिन नवम्बर 2019 में सामने आयी नयी सामग्री से पता चलता है कि मोर्चे पर भेजे गये बहुत सारे लड़के केवल 12 वर्ष के थे।
स्रोत - ओकिनावा के संग्राम के छात्र सैनिक