बिकिनी में तस्वीरें क्यों खिंचवायीं? "ऑस्टोमेट" चिकित्सक के समक्ष चुनौतियाँ
इस अंक में हम बात करेंगे 42 वर्षीया चिकित्सक एमा ओत्सुजि पिकल्स की। एक लाइलाज रोग से ग्रस्त होने के बाद उनके शरीर में "स्टोमा" यानि चिकित्सकीय तरीके से पेट की सतह पर छिद्र बनाया गया है। एमा ने हाल ही में बिकिनी पहनकर तस्वीरें खिंचवायीं जिनमें उन्होंने अपनी स्टोमा थैली का प्रदर्शन किया है। उनके इस क़दम ने ऐसी ही अवस्था वाले लोगों को हौसला प्रदान किया है। कार्यक्रम में जानेंगे बिकिनी पहनकर तस्वीरें खिंचवाने का कारण। (29 जून 2021 के अंक का पुनर्प्रसारण)
भोजन पचाने और मलत्याग न कर पाने के कारण एमा किशोरावस्था से 20 से भी अधिक बार अस्पताल में भर्ती हुईं। 38 साल की आयु में उन्हें पता चला कि वह एक लाइलाज रोग से ग्रस्त थीं और उनके पाचन संबंधी अंग न के बराबर काम कर रहे थे।
एमा जापान में स्टोमा थैलियाँ बनाने वाली एकमात्र कंपनी में जाती हैं। ऑस्टोमेट लोगों की परेशानियों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से वह अपना जैकेट उतारकर अपनी स्टोमा थैली दिखाने का निश्चय करती हैं।
बिकिनी पहनकर फ़ोटो खिंचवाती एमा टीवी पर नज़र आयीं और काफ़ी चर्चा में रहीं। बहुत सारे ऑस्टोमेट लोगों और उनके परिवारों ने उन्हें संदेश भेजे।