हिरोशिमा - अणु बम चित्र
लोगों की कथाएँ, जीवन की कथाएँ। "नगर कथा" कार्यक्रम में जानें जापान के विभिन्न नगरों में रह रहे लोगों की अंतरंग कहानियाँ। आसमान की ओर उठतीं आग की धधकती लपटें। सड़क पर पड़ी लावारिस लाश। ये 6 अगस्त, 1945 को हिरोशिमा पर गिराये गए अणु बम के उत्तरजीवियों की स्मृतियों पर आधारित दिल दहलाने वाले चित्र हैं। "हिबाकुशा" यानि अणु बम उत्तरजीवी, एक दशक से अधिक समय से स्थानीय माध्यमिक विद्यालयों के छात्रों के साथ मिलकर अपनी यादों को चित्रपटों पर उतार रहे हैं। अब तक पूरे हुए 137 "अणु बम चित्र" बमबारी के कारण हुई शारीरिक व मानसिक क्षति के अनमोल दृश्यमान रिकॉर्ड बन गये हैं। इन चित्रों के माध्यम से कुछ हिबाकुशा को अपने गहरे मानसिक घावों का सामना करने में सहायता मिली है। यह चित्र उस दिन की सच्चाई को सरलता से बयान करने वाले संसाधन भी बन गये हैं। (1 सितम्बर 2020 के अंक का पुनर्प्रसारण)
हिबाकुशा माध्यमिक कक्षा के छात्रों को अणु बमबारी के अपने अनुभव बताते हैं और छात्र उन स्मृतियों को चित्रों के रूप में उकेरते हैं।
हिबाकुशा की स्मृतियों का चित्रण करते समय छात्र उस सच्चाई को पुनःअनुभव करते हैं।