विश्व को एक सूत्र में पिरोती "बहारें आयेंगी"
11 मार्च 2011 को आये पूर्वी जापान महाभूकंप को 10 वर्ष हो गये हैं। इस आपदा से प्रभावित लोगों को हौसला देने के लिए एनएचके के पुनरुद्धार सहायतार्थ गीत "हाना वा साकु (बहारें आयेंगी)" का निर्माण किया गया था। एक दशक बाद, इस गीत को 11 भाषाओं में बनाने की परियोजना आरंभ हुई। ओनो लीसा, मे जे. और मोरिसाकि विन जैसे 11 कलाकारों ने इस गीत को सहर्ष अपने स्वर दिये। कार्यक्रम में आपका परिचय करवाएँगे गीत के जन्म की कहानी और आपदा-प्रभावित क्षेत्रों के मौजूदा हाल से।
"बहारें आयेंगी" परियोजना में हिस्सा लेने वाले 11 कलाकार
मिनामिसानरिकु में रहने वाली चीनी महिला ने क्षतिग्रस्त इमारत का दौरा किया।
पूरे विश्व से प्राप्त फूलों की छवियाँ