कोरोना पर मिलकर पायें विजय - सहयोग की कहानी
तोक्यो के व्यापारिक केन्द्र में एक व्यापार कंपनी भारत से उच्च-गुणवत्ता वाले मसालों, इत्यादि का आयात करके, यहाँ बेचती है। महामारी के अंत के आसार नज़र न आने के बीच, कंपनी के भारतीय अध्यक्ष नितिन हींगड़ ने अपने जापानी कर्मचारियों के साथ मिलकर संकट से निकलने के तरीक़े तलाशे हैं। कार्यक्रम में नज़र डालेंगे उनके संघर्षों पर।
अध्यक्ष नितिन हींगड़ ने भारतीय किराने की दुकान खोली जब उन्होंने देखा कि जापान में भारतीय लोग घर के स्वाद का आनंद लेने के लिए तरस रहे हैं।
महामारी में बिक्री में गिरावट के बीच, जापानी ग्राहकों का दिल जीतने के लिए नितिन एक अनुभवी जापानी कर्मचारी से सलाह लेते हैं।
कोरोनावायरस का डेल्टा प्रकार, जिसकी भारत में शुरुआत हुई थी, वह दुनियाभर में फैल गया है। इसलिए भारतीय सब्ज़ियों को वहाँ से आयात करना कठिन हो गया है। उन्होंने जापान में पहली बार हरी मिर्च उगाने का निश्चय किया है।
अथक प्रयासों के बाद नितिन एक जापानी खेत में हरी मिर्च उगाने में सफल हुए हैं।