साहित्य सरिता - "सूरज" भाग-3
जापान में आपातकाल लागू होने की रात में ही कहानी की मुख्य पात्र काहारा दाँत में अत्यधिक दर्द के कारण एक रहस्यमयी दंत चिकित्सक के पास जाती है। लेकिन दाँतों का चिकित्सक काज़ामा उसे बताता है कि वह दिल में दर्द के कारण उपजी पीड़ा को दाँतों में महसूस कर रही है, और जब तक वह दिल में दर्द के कारण की पहचान नहीं कर लेती उसका दाँत दर्द ठीक नहीं हो सकता है। क्या काहारा अंततः अपने दर्द का मूल स्रोत ढूँढ़कर वास्तविकता से तारतम्य बैठा पायेगी? सुनें इस कहानी की तीसरी और अंतिम कड़ी

कहानीकार मोरि एतो जापान की लोकप्रिय उपन्यासकारों में से एक हैं। बाल साहित्य की दुनिया में उनकी रचनाएँ सुविख्यात हैं और उनके कई उपन्यास टेलीविज़न धारावाहिक और फ़िल्मों की पटकथा में भी परिणत हुए हैं। (26 फ़रवरी को प्रसारित अंक का पुनर्प्रसारण)