साहित्य सरिता - "बिल्कुल नहीं दिखता" (भाग-2)
"बिल्कुल नहीं दिखता" कहानी जापान की सर्वाधिक लोकप्रिय लेखिका मियाबे मियुकि की रचना है। मियाबे रहस्यमयी भूतिया कहानियों, विज्ञान फंतासियों, ऐतिहासिक उपन्यासों और बाल साहित्य की सशक्त हस्ताक्षर रही हैं।
यह डरावनी कहानी भी आरंभ होती है बरसात की एक रात में जब रेलवे स्टेशन के बाहर टैक्सी की प्रतीक्षा कर रहे कहानी के मुख्य पात्र का सामना एक बुज़ुर्ग व्यक्ति से होता है। इत्सुरो की आखिरी बस छूट गयी थी और वह टैक्सी का इंतज़ार कर रहा था जब लाइन में पीछे खड़ा एक बुज़ुर्ग व्यक्ति उससे बात करना शुरू करता है। व्यक्ति इत्सुरो को ठीक लगता है तो वे दोनों साथ पैदल घर के लिए चलने लगते हैं। बारिश में चलते चलते बूढ़ा व्यक्ति अपने कुत्ते की पुरानी कहानी सुनाना शुरू करता है। (सुनें तीन कड़ियों में कहानी की दूसरी कड़ी)