11 अप्रैल का अंक
भारत में जापान फ़ाउन्डेशन द्वारा आयोजित जापानी बालकथा-वाचन कार्यक्रम पर संक्षिप्त संवाद के साथ होंगे श्रोताओं के पत्रों के उत्तर।
इस आयोजन में चार सचित्र कहानी पुस्तकें शामिल थीं। बाएँ से - "हानामिज़ुकि का रास्ता", "माँ की लोरी", "हवा का टेलीफ़ोन"। बीच में - "चंद्रमा की सीप"। "हानामिज़ुकि का रास्ता" के लेखक - मिकिको आसानुमा, चित्र - केन कुरोइ, प्रकाशक - किन-नो-होशि-शा। "माँ की लोरी" के लेखक- हितोमि कोन्नो, चित्र - योको इमोतो, प्रकाशक - किन-नो-होशि-शा। "हवा का टेलीफ़ोन" के लेखक - योको इमोतो, प्रकाशक - किन-नो-होशि-शा। "चंद्रमा की सीप" के लेखक - केइको नागिता, चित्र - युरा कोमिने, प्रकाशक - कोसेइ शुप्पान
हानामिज़ुकि का फूल