11 अक्तूबर का अंक
एनएचके हिन्दी सेवा के उद्घोषक राघवेन्द्र जैन से अंतरंग वार्ता के साथ होंगे श्रोताओं के पत्रों के उत्तर। (20 सितम्बर के अंक का पुनर्प्रसारण)