जापान में रहने वाले विदेशियों के लिए आपदा रोकथाम (भाग 1) - चीनी और ब्राज़ीली निवासी
जापान में आपदा का खतरा हमेशा बना रहता है। ऐसे में यहाँ रहने वाले विदेशियों को भी अपनी-अपनी अलग समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उनकी परिस्थिति और ज़रूरतों को समझने के लिए केइओ विश्वविद्यालय के एक अनुसन्धान दल ने विभिन्न समुदायों में एक सर्वेक्षण किया। दो कड़ियों की इस शृंखला में हम उन सर्वेक्षणों के परिणाम साझा करेंगे। पहली कड़ी में बात करेंगे चीनी और ब्राज़ीली लोगों की। (12 फ़रवरी, 2020 को प्रसारित अंक का पुनर्प्रसारण)
विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने चीनी निवासियों और जापानी लोगों के बीच सम्पर्क बढ़ाने के प्रयासों में जुटे दुआन युएज़ोंग से बातचीत की।
तोक्यो के एक उद्यान में हर रविवार को जापानी और चीनी लोगों के लिए मेलजोल बढ़ाने के कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है।
इबाराकि प्रिफ़ैक्चर के जोसो में आपदा बचाव अभ्यास के दौरान पुर्तगाली और अन्य भाषाओं में जानकारी दी जाती है।
सर्वेक्षण का आयोजन करने वाले आपदा-रोकथाम विशेषज्ञ व केइओ विश्वविद्यालय के प्राध्यापक राजीब शॉ का व्याख्यान।