13 मिनट 21 सेकंड

समस्त विदेशियों के लिए चैन का बसेरा

यह जो देश है मेरा

प्रसारण तिथि 22 दिसम्बर 2020 उपलब्ध होगा 6 अप्रैल 2022

इस अंक में हम तोक्यो के शिंजुकु वॉर्ड जाएँगे जहाँ जापान में सबसे अधिक विदेशी रहते हैं। चीनी नागरिक दून शाओलिआंग जापानी मकान-मालिकों और विदेशी किरायेदारों के बीच फ़ासला कम करने के प्रयासों में जुटे हैं। जापान में विदेशियों को अपना घर ढूँढ़ने में मदद करने के दून के प्रयासों पर डालेंगे एक नज़र। (8 दिसम्बर 2020 के अंक का पुनर्प्रसारण)

photo
लगभग 20 साल से जापान में रह रहे दून शाओलिआंग की कंपनी विशेष रूप से विदेशियों को मकान किराये पर लेने में मध्यस्थ की भूमिका अदा करती है।
photo
"रहन-सहन सहायता" विभाग विदेशियों को उनकी मातृ भाषा में परामर्श सेवा प्रदान करता है। ग्राहक, किराये का लगभग 10 से 20 प्रतिशत हिस्सा शुल्क के तौर पर भुगतान कर, गारंटी प्रदान करने की सेवा के साथ साथ इस सेवा का भी उपयोग कर सकते हैं।
photo
दून अपनी कोरियाई पत्नी आइ के साथ जिस घर में रहते हैं वह उनके लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण जगह है जहाँ वे आराम महसूस कर सकते हैं। दून इस बात में बहुत अधिक विश्वास रखते हैं कि घर दैनिक जीवन का आधार होता है।

कार्यक्रम की रूपरेखा