13 मिनट 05 सेकंड

खंजन पक्षी की डिज़ाइन वाला कटोरा (Nezumi Shino Sekirei-mon Hachi)

जापान की उत्कृष्ट कलाकृतियों की कहानी

प्रसारण तिथि 20 अक्तूबर 2016 उपलब्ध होगा 31 मार्च 2029

एक उथला, टेढ़ा मेढ़ा, गोल कटोरा... इस कटोरे की अधिकांश सतह स्लेटी है लेकिन सफ़ेद रंग की एक बहती नदी में एक चट्टान पर बैठा खंजन पक्षी दिखाई देता है। साधारण तकनीक में पहले रंजक को लगाया जाता था और फिर उसके कुछ हिस्से खरोंचकर हटाए जाते थे किसी डिज़ाइन के आकार में। लेकिन इस कटोरे के मामले में, रंजक लगाते समय संयोग से चिकनी मिट्टी का एक हिस्सा छूट गया था। यह आकार एक चट्टान की तरह था और इसी से कटोरे के डिज़ाइन की उत्पत्ति होती है। 16वीं सदी के अंत और 17वीं सदी की शुरूआत के बीच में संघर्षों तथा तेज़ आर्थिक गतिविधियों के कारण जापान बड़े सामाजिक बदलावों के दौर से गुज़र रहा था और इन सब ने एक नए सौंदर्यबोध को जन्म दिया। इस कटोरे में शिनो की जो मुक्त तथा उदार शैली नज़र आती है, वह मिट्टी के बर्तनों की दुनिया में नए सौंदर्यबोध की अभिव्यक्ति थी। लेकिन आखिरकार लोगों की पसंद बदल गई और लोग यह तक भूल गए कि ये कलाकृतियाँ कहाँ बनाई जाती थीं। 20वीं सदी में एक बार फिर खोज शुरू हुई मिनो भट्टियों की, जहाँ शिनो कलाकृतियाँ बनाई जाती थीं और आज हम यह जानते हैं कि इन कलाकृतियों ने उस ज़माने में मिट्टी के बर्तनों के क्षेत्र में कितनी बड़ी भूमिका निभाई।

photo

कार्यक्रम की रूपरेखा