18 मिनट 00 सेकंड

कोसोदे (कलाई के छोटे खुले हिस्से वाला किमोनो) टुइल बुनाई वाले कपड़े पर शरद के फूलों और पत्तों का डिज़ाइन (Kosode shiroayaji akikusamoyou)

जापान की उत्कृष्ट कलाकृतियों की कहानी

प्रसारण तिथि 3 सितम्बर 2015 उपलब्ध होगा 31 मार्च 2029

जापानी महिलाओं के पारंपरिक परिधान“किमोनो” की ख़ूबसूरती, मुख्य रूप से कपड़े पर बने डिज़ाइन पर निर्भर करती आई है। कभी कभी किमोनो को कैनवस की तरह काम में लाया जाता है, जिसपर कलाकार सीधे चित्रकारी करते हैं। इस कार्यक्रम में जिस अनमोल किमोनो से परिचय करवाया गया है वो इस पद्धति की पराकाष्ठा है। इस किमोनो पर चित्रकारी की थी 18वीं सदी के प्रसिद्ध कलाकार ओगाता कोरिन ने। किमोनो पर शरद के सुंदर वन्य पुष्पों को सीमित रंगों और सादे आकारों से बनाया गया है और ये कोरिन के उत्तम डिज़ाइन बोध को बेहतरीन तरीके से व्यक्त करता है। कोरिन का जन्म क्योतो के प्रसिद्ध किमोनो निर्माता घरानों में से एक में हुआ था, लेकिन किसी वजह से उन्होंने न के बराबर ही किमोनो डिज़ाइन बनाए। 40 साल की उम्र के बाद वो नए निवास स्थल, एदो में बस गए जहाँ उन्होंने इस किमोनो पर चित्रकारी की। कार्यक्रम में उस ज़माने के फ़ैशन से लेकर एक नए शहर के निर्माण तक, इस उत्कृष्ट कलाकृति के जन्म से जुड़ी पृष्ठभूमि को जानने की कोशिश की गई है।

photo

कार्यक्रम की रूपरेखा