12 मिनट 14 सेकंड

तलवार, अहस्ताक्षरित मासामुने (यशस्वी कान्ज़े मासामुने) (Katana mumei Masamune, meibutsu Kanze Masamune)

जापान की उत्कृष्ट कलाकृतियों की कहानी

प्रसारण तिथि 16 जुलाई 2015 उपलब्ध होगा 31 मार्च 2029

लंबी, पतली और हल्की घुमावदार तलवार...। जापान में तलवारों की म्यान, मूठ, आदि की सजावट से अलग, उनके केवल धार वाले हिस्सों को सराहने की विशेष परंपरा रही है। तलवार, अहस्ताक्षरित मासामुने (जो यशस्वी कान्ज़े मासामुने के नाम से भी जानी जाती है) एक राष्ट्रीय निधि है, जिसे 14वीं सदी के आसपास मासामुने ने बनाया था। मासामुने जापानी तलवारों के सुनहरे युग के महान लोहारों में से एक थे। तलवार की धार को करीबी से देखने पर हमें इस्पात की सतह पर चमकते कणों के अनूठे पैटर्न्स और लकड़ी की गाँठों जैसे डिज़ाइन नज़र आते हैं। धार को मज़बूत और लचीला बनाने के लिए लोहे को बार बार गर्म और ठंडा करने की प्रक्रिया में ये अनोखे डिज़ाइन्स पैदा होते हैं। खासकर मासामुने की तलवारें इस्पात पर विस्तृत और स्पंदनशील डिज़ाइन्स के लिए जानी जाती है। लेकिन मासामुने लोहार और उस ज़माने की तकनीकें आज भी रहस्य से घिरे हैं। शासक वर्ग के सदस्यों के लिए मासामुने की तलवार हासिल करना बेहद ज़रूरी हो गया था। उपहार के तौर पर ये तलवारें सामुराइ योद्धाओं के गौरव का प्रतीक थीं और तेज़ी से कई लोगों के हाथों से गुज़रीं।

photo

कार्यक्रम की रूपरेखा