यूरोपीय संसद – क़तर में हज़ारों प्रवासी मजदूरों की “मृत्यु” निंदनीय

यूरोपीय संसद ने एक प्रस्ताव पारित कर क़तर में हज़ारों प्रवासी मजदूरों की कथित मौत की भर्त्सना की है। ये मजदूर फ़ुटबॉल विश्वकप की मेज़बानी के लिए क़तर को तैयार करने में सहायता कर रहे थे।

यूरोपीय संसद ने बृहस्पतिवार को क़तर में मानवाधिकार स्थिति पर ग़ैर-बाध्यकारी प्रस्ताव पारित किया।

प्रस्ताव क़तर प्रशासन से आग्रह करता है कि विश्वकप के आयोजन के लिए स्टेडियम के निर्माण और अन्य तैयारियों के दौरान हुई प्रवासी कामग़ारों की कथित मौतों की सरकार गहराई से जाँच करे।

प्रस्ताव में क़तर सरकार से उन मजदूरों के परिवारों को मुआवज़ा देने का भी आह्वान किया गया है, जिनकी मृत्यु अमानवीय कार्य-स्थितियों के चलते हुई है।

2010 में क़तर को विश्वकप की मेज़बानी सौंपने की प्रक्रिया में पारदर्शिता के अभाव और ख़तरे के ग़ैर-ज़िम्मेदाराना आकलन की भी प्रस्ताव में भर्त्सना की गयी है।