फ़ीफ़ा के पहले मैच में जापान ने जर्मनी को दिया झटका

फ़ुटबॉल विश्व कप में 1998 में पहली बार भाग लेने के बाद से जापान ने सबसे बड़ा उलटफेर किया है।

जापान की टीम सामुराइ ब्लू ने बुधवार को ग्रुप ई मुकाबले में चार बार के चैंपियन रहे जर्मनी को 2-1 से हराया।

खेल की शुरुआत में तो ऐसा लग रहा था कि जर्मनी जीत की ओर बढ़ रहा है। जापान के गोलकीपर गोन्दा शूइचि को मिली पेनल्टी के बाद 33वें मिनट पर जर्मनी के इल्के गुएन्डोगान ने गोल कर अपनी टीम को बढ़त दिला दी थी।

जापान के कोच मोरियासु हाजिमे के अनुसार टीम को और अधिक आक्रामक होने की आवश्यकता थी और इसके लिए उन्होंने पाँच सब्सिट्यूट खिलाड़ी मैदान में उतारे जिनमें से दो गोल दाग़ने में कामयाब रहे।

मैदान में उतरने के चार मिनट बाद 75वें मिनट पर दोआन रित्सु गोल दाग़ कर खेल को बराबरी पर ले आये।

इसके 8 मिनट बाद आसानो ताकुमा ने दूसरा गोल दाग़कर जर्मनी को ढेर कर दिया। दोआन और आसानो दोनों जर्मनी के बुंदेसलीगा में खेलते हैं।

दोआन ने खेल के बाद कहा कि वह आज की जीत से अत्यधिक प्रसन्न हुए बिना, आगे और दृढ़ भावना के साथ खेलना चाहते हैं।

आसानो ने कहा कि यह पूरी टीम की जीत है। उन्होंने कहा कि वह आज की जीत का आनन्द उठाना चाहते हैं और फिर अगले मैच पर पूरा ध्यान केन्द्रित करेंगे।