पुतिन ने दिया पूर्व सोवियत सदस्यों की एकजुटता पर बल

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने साझे अतीत वाले पूर्व सोवियत गणराज्यों की एकजुटता पर बल दिया है।

पुतिन ने बुधवार को आर्मीनिया की राजधानी येरेवान में सामूहिक सुरक्षा संधि संगठन यानि सीएसटीओ की शिखर बैठक को संबोधित किया।

रूस के नेतृत्व वाला सीएसटीओ, पूर्व सोवियत संघ सदस्यों का एक सैन्य संगठन है।

पुतिन ने कहा कि सीएसटीओ सदस्य “महान देशभक्तिपूर्ण युद्ध” में विजय के साझा इतिहास से जुड़े हुए हैं।

कज़ाख़स्तान के राष्ट्रपति कासिम-जोमार्त तोकायेफ़ ने वार्ता के माध्यम से उक्रेन में शांति लाने का आह्वान किया।

तोकायेफ़ रूस से एक निश्चित दूर बनाये रखने का अपना रुख़ पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं।

माना जाता है कि उक्रेन पर जारी रूसी आक्रमण के मद्देनज़र सीएसटीओ के कुछ सदस्यों ने रूस से दूरी बनाने के क़दम उठाये हैं।

शिखर बैठक में पुतिन के भाषण को सीएसटीओ देशों को एकजुट करने का प्रयास माना जा रहा है। पुतिन इन देशों को रूसी प्रभाव के दायरे में मानते हैं।