रूसी हमलों के बीच कड़ाके की ठंड में ठिठुरता उक्रेन

रूस के मिसाइल हमलों के चलते उक्रेन में लोग अब तक की सबसे मुश्किल ठंड का सामना करने पर मजबूर हैं। इन हमलों ने देश में बिजली की आपूर्ति आधी कर दी है।

उक्रेनी निवासी बिजली बचत के प्रयास करते हुए गर्म कपड़े तथा कंबल एकत्र कर रहे हैं। उन्हें मार्च के अंत तक बिजली कटौती के लिए तैयार रहने हेतु कहा गया है।

उक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की ने मंगलवार को आरोप लगाया कि रूस कड़कड़ाती ठंड को सामूहिक विनाश का हथियार बना रहा है। सर्दियाँ क़रीब आने पर उन्होंने अन्य देशों से उक्रेनी नागरिकों को और मदद देने का आह्वान किया।

इस बीच, रूस ने अपने मिसाइल हमले तेज़ कर दिये हैं। एनएचके के रिपोर्टर ने एक सप्ताह पहले मध्यवर्ती कीव में मिसाइल हमले की चपेट में आये एक आवासीय परिसर का दौरा किया जहाँ जलने की तेज़ गंध आ रही थी।

एक निवासी ने बताया, “मैंने एक आवाज़ सुनी और आग के एक बड़े गोले को आते हुए देखा, जिसके बाद एक बड़ा विस्फोट हुआ और इमारत हिल गयी।”

यह परिसर एक शांत रहवासी क्षेत्र में है, जहाँ किसी भी प्रकार के सैन्य ठिकाने नहीं हैं।