डब्ल्यूएचओ – इन सर्दियों में लाखों उक्रेनियों की ज़िंदगी ख़तरे में

विश्व स्वास्थ्य संगठन यानि डब्ल्यूएचओ का कहना है कि उक्रेन में इस बार सर्दी का मौसम लाखों लोगों के लिए “घातक हो सकता है।” संगठन ने ऊर्जा अवसंरचनाओं और 700 से अधिक चिकित्सा केन्द्रों पर रूसी हमलों को इसका कारण बताया है।

यूरोप के लिए डब्ल्यूएचओ के क्षेत्रीय निदेशक हैन्स हेनरी पी. क्लूगे ने सोमवार को जारी वक्तव्य में इस ख़तरे का संकेत दिया।

क्लूगे ने कहा कि फ़रवरी में रूसी आक्रमण शुरू होने के बाद से उक्रेन के 703 चिकित्सा केन्द्रों पर हमले हो चुके हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि ये हमले अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार क़ानून और युद्ध नियमों का उल्लंघन हैं।

क्षेत्रीय निदेशक के अनुसार उक्रेन की 50 प्रतिशत ऊर्जा अवसंरचनाओं को क्षति पहुँची है या वे नष्ट हो गयी हैं, जिसका अर्थ है कि “सैकड़ों अस्पताल और चिकित्सा केन्द्र अब पूरी तरह काम नहीं कर रहे हैं।” क्लूगे ने बताया कि केन्द्रों में ईंधन, पानी और बिजली जैसी मूलभूत आवश्यकताओं की कमी है।