तियानेनमेन चौराहे की कार्रवाई को 32 वर्ष पूरे

पेइचिंग के तियानेनमेन चौराहे पर चीन द्वारा लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों पर ख़ूनी कार्रवाई को शुक्रवार को 32 वर्ष पूरे हो गये।

चौराहे पर तैनात पुलिस अधिकारी शुक्रवार सुबह वहाँ आने वाले आगंतुकों से पूछताछ कर उनके सामान की तलाशी लेते दिखे।

4 जून 1989 को हुई इस घटना में बड़ी संख्या में लोग मारे गये थे जब देश में लोकतंत्र की माँग करने वाले छात्रों और अन्य पर चीनी बलों ने गोलियाँ चलायी थीं।

जुलाई में अपनी स्थापना के 100 वर्ष पूरे करने की तैयारी में व्यस्त चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और सरकार इस कार्रवाई पर हो रही आलोचना को दबा रही है।

चीन सरकार का दावा है कि उसने सही निर्णय लिया था। इस घटना से जुड़ी जानकारी पर सरकार का कड़ा नियंत्रण है और इसके बारे में बात करना निषिद्ध है।