म्यांमार में विद्यालय दुबारा खुले लेकिन कक्षाओं का बहिष्कार

समूचे म्यांमार में कोरोनावायरस उपायों के तहत बंद रखे गये विद्यालयों को सेना ने दुबारा खोल दिया है। परंतु बहुत से शिक्षक और छात्र सेना के विरोध में कक्षाओं में लौटने से इंकार कर रहे हैं।

देश में नये शैक्षणिक वर्ष की शुरुआत में मंगलवार को विद्यालय दुबारा खुले। उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अगस्त 2020 से बंद थे, जबकि प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय एक साल से भी अधिक समय से बंद थे।

देश के सबसे बड़े शहर यांगोन में कक्षाओं में सीमित संख्या में ही छात्र नज़र आये।

फ़रवरी में सैन्य तख़्तापलट के कारण म्यांमार में बहुत से शिक्षकों ने कक्षाओं का बहिष्कार करने का निश्चय किया है क्योंकि उन्हें लगता है कि विद्यालयों में लौटने का अर्थ सैन्य शासन को स्वीकारना होगा।

शिक्षक समूहों के अनुसार सेना मई के अंत तक लगभग 1,26,000 शिक्षकों को निलंबित या बर्ख़ास्त कर चुकी थी।

बहुत से नागरिक भी सैन्य शासन के अधीन अपने बच्चों की शिक्षा के विरुद्ध हैं।

शिक्षक समूहों के अनुसार विद्यालयों का संचालन बहाल होने से पहले कक्षा में बैठने के लिए आवश्यक प्रक्रियाओं को लगभग 30 प्रतिशत छात्रों ने ही पूरा किया है।