ताइवान में आकस्मिक स्थिति के लिए तैयार रहने की एलडीपी की योजना

जापान के मुख्य सत्ताधारी दल लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्य ताइवान से जुड़ी आपात स्थितियों से निपटने के संभावित तरीकों पर चर्चा करने का सरकार से आह्वान कर रहे हैं।

विदेश मंत्रालय के विदेश मामलों के प्रखंड एवं अनुसंधान आयोग में एलडीपी के सदस्यों ने सरकार के लिए प्रस्ताव तैयार किये हैं जिनमें कहा गया है कि ताइवान पर चीन का सैन्य और आर्थिक दबाव बढ़ता जा रहा है।

दस्तावेज़ में कहा गया है कि ताइवान पर चीन का आक्रमण जापान की सुरक्षा को सीधे तौर पर प्रभावित करेगा।

इसमें प्रस्ताव दिया गया है कि ताइवान में उत्पन्न होने वाली किसी आकस्मिक स्थिति में मित्र राष्ट्रों के साथ कैसे संयोजन करना है इसका अभ्यास किया जाए। इसमें ताइवान में रहने वाले जापानी नागरिकों को वहाँ से निकालने की योजना बनाने का भी आह्वान किया गया है।

एलडीपी सदस्यों का यह भी कहना है कि जापान को ताइवान के साथ संबंध मज़बूत करने चाहिए। विशेष रूप से उन्होंने मंत्रियों तथा सरकारी अधिकारियों के बीच आदान-प्रदान को बढ़ावा देने के उपायों पर चर्चा करना प्रस्तावित किया है।

दस्तावेज़ में कहा गया है कि अंतरराष्ट्रीय संगठनों में ताइवान की भागीदारी जापान के राष्ट्रीय हितों तथा सुरक्षा के लिए महत्त्वपूर्ण होगी।

एलडीपी के सदस्यों का कहना है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की वार्षिक सभाओं में ताइवान की प्रतिभागिता तथा अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन यानी आईसीएओ से उसके जुड़ने में सहायता के लिए जापान सरकार को पहल करनी चाहिए।