डब्ल्यूएचओ सभा में महामारी संधि पर प्रस्ताव पारित

विश्व स्वास्थ्य संगठन यानि डब्ल्यूएचओ की वार्षिक सभा ने एक प्रस्ताव पारित किया है जिसमें भावी महामारियों के प्रति बेहतर तैयारी हेतु एक अंतरराष्ट्रीय संधि पर वार्ता का आह्वान किया गया है।

विश्व स्वास्थ्य सभा ने सोमवार को एक वीडियो कॉन्फ़्रेंस के दौरान यूरोपीय संघ, जापान और अन्य द्वारा प्रस्तुत एक प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित किया।

प्रस्ताव में स्वीकारा गया है कि कोरोनावायरस वैश्विक महामारी के प्रति डब्ल्यूएचओ और विश्व की सरकारों के उपाय अपर्याप्त रहे। इस प्रस्ताव में भावी संक्रामक रोगों के प्रति डब्ल्यूएचओ की कड़ी प्रतिक्रिया सुनिश्चित करने के लिए एक कार्यकारी दल के गठन का आह्वान किया गया है।

यूरोपीय संघ का प्रस्ताव है कि भविष्य की किसी भी महामारी के प्रति तैयारी और प्रतिक्रिया को परिभाषित करती एक नयी संधि पर चर्चा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए।

एक स्वतंत्र समिति डब्ल्यूएचओ और विश्व की सरकारों द्वारा कोविड-19 प्रतिक्रिया का आकलन कर रही है। इस समिति ने भी डब्ल्यूएचओ और सरकारों की क़ानूनी बाध्यताएँ कड़ी करने हेतु एक नयी संधि का प्रस्ताव रखा है।

डब्ल्यूएचओ 29 नवंबर से तीन दिवसीय महासभा का आयोजन करेगा। प्रस्तावित कार्यकारी दल की चर्चा के आधार पर सदस्य देशों की एक नयी संधि के लाभों पर गहन चर्चा करने की योजना है।