अमरीकी विशेषज्ञ - तोक्यो ओलम्पिक के कोविड-19 नियम अपर्याप्त

अमरीका के चार जन स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने तोक्यो ओलम्पिक एवं पैरालम्पिक खेलों के प्रतिभागियों के लिए निर्धारित कोरोनावायरस-रोधी उपायों में सुधार का आहवान किया है।

इन विशेषज्ञों ने मंगलवार को न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ़ मेडिसिन नामक पत्रिका में एक लेख प्रकाशित किया। इन विशेषज्ञों में मिनेसोटा विश्वविद्यालय के रीजेन्ट प्रोफ़ेसर ओस्टरहोल्म भी शामिल हैं। प्रोफ़ेसर ओस्टरहोल्म राष्ट्रपति जो बाइडन के सत्ता परिवर्तन दल में कोविड-19 सलाहकार समिति के सदस्य रह चुके हैं।

इस लेख में तोक्यो 2020 क्रीड़ा-पुस्तिका का उल्लेख किया गया है जिसमें खेलों के प्रतिभागियों के लिए वायरस-रोधी उपायों की रूपरेखा स्पष्ट की गयी है। अंतरराष्ट्रीय ओलम्पिक समिति यानि आईओसी, अंतरराष्ट्रीय पैरालम्पिक समिति और तोक्यो खेल आयोजन समिति ने मिलकर यह पुस्तिका तैयार की है।

लेख के अनुसार, “इस पुस्तिका में ख़तरे का आकलन कड़े वैज्ञानिक दृष्टिकोण से नहीं किया गया है।”

विशेषज्ञों का कहना है कि “आईओसी प्रत्येक खिलाड़ी को स्मार्टफ़ोन उपलब्ध करवाएगी जिनमें कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग और स्वास्थ्य सूचना सम्बन्धी ऐप अनिवार्य रूप से डाले जाएँगे।” लेकिन विशेषज्ञों ने सचेत किया है कि “बहुत कम ओलम्पिक खिलाड़ी प्रतियोगिता के दौरान फ़ोन को अपने पास रखेंगे।”

लेख के अनुसार क्रीड़ा-पुस्तिका में सभी आयोजनों का वर्गीकरण किया जाना चाहिए जैसे कि आयोजन खुले में है या भीतर, या फिर आयोजन के दौरान लोग निकट सम्पर्क में आयेंगे या नहीं।

विशेषज्ञों ने कहा है कि “कुछ पैरालम्पिक खिलाड़ियों का स्वास्थ्य अत्यधिक संवेदनशील हो सकता है।” उनका यह भी कहना है कि “क्रीड़ा-पुस्तिका में प्रशिक्षक, स्वयंसेवी, अधिकारी और परिवहन तथा होटल कर्मचारी जैसे सैकड़ों लोगों की सुरक्षा का समुचित ध्यान नहीं रखा गया है।”

विशेषज्ञों ने “विश्व स्वास्थ्य संगठन को तुरंत आपात समिति गठित करने का सुझाव दिया है” ताकि तोक्यो खेलों में किसी भी संभावित ख़तरे से निपटने के लिए उचित सलाह दी जा सके। विशेषज्ञों के अनुसार समिति में संक्रामक रोग विशेषज्ञ और खिलाड़ियों के प्रतिनिधि शामिल किये जाने चाहिए।