महामारी संबंधी कारणों से दिवालिया हुए 1,500 व्यवसाय

नये आँकड़े दर्शाते हैं कि जापान में पिछले वर्ष फ़रवरी से कोरोनावायरस महामारी के कारण 1,500 कंपनियाँ दिवालिया हो चुकी हैं।

साख अनुसंधान कंपनी तेइकोकु डाटाबैंक के अनुसार ये कंपनियाँ या तो पहले ही स्वयं को दिवालिया घोषित कर चुकी हैं या दिवालिया घोषित होने की क़ानूनी प्रक्रिया आरंभ करने के लिए अपना संचालन बंद कर चुकी हैं।

दिवालिया हुई 250 कंपनियों के साथ रेस्त्राँ उद्योग सबसे अधिक आहत हुआ है। इसके बाद निर्माण उद्योग में 140 और आवास उद्योग में 89 कंपनियाँ दिवालिया हुईं।

बृहत्तर तोक्यो क्षेत्र में दूसरे कोरोनावायरस आपातकाल की शुरुआत के साथ ही यानि जनवरी से मासिक आँकड़ा बढ़ता आया है।

तेइकोकु डाटाबैंक का कहना है कि रेस्त्राँ और आवासीय कंपनियों पर पड़ने वाला प्रभाव संबंधित उद्योगों में भी फैल रहा है। जब किसी होटल के व्यवसाय पर आँच आती है तो मरम्मत और बिजली के काम में विशेषज्ञता वाले छोटे और मझौले ठेकेदारों को भी अक्सर अपना काम बंद करना पड़ता है।