जापान में रहने वाले चीनी मूल के शोधकर्ता की रिहाई की माँग

चीन के अधिकारियों द्वारा जासूसी के आरोप में हिरासत में लिये गए जापान में रहने वाले चीनी मूल के एक शोधकर्ता के परिजनों और सहकर्मियों ने कहा है कि वह निर्दोष हैं और उनकी शीघ्र रिहाई की माँग की है।

होक्काइदो शिक्षा विश्वविद्यालय के पूर्व प्राध्यापक युआन केचिन 2019 में चीन यात्रा पर गये थे, जहाँ अधिकारियों ने उन्हें जासूसी के संदेह में हिरासत में ले लिया था। बाद में उन पर अभियोग लगाया गया था।

युआन के पुत्र और साथी शोधकर्ताओं ने मंगलवार को होक्काइदो प्रिफ़ैक्चर कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया। युआन के पुत्र का जन्म और लालन-पालन जापान में हुआ है।

पुत्र ने संवाददाताओं को बताया कि इस महिने की शुरुआत में उनके पिता को पहली बार किसी वकील से मिलने दिया गया। वकील ने उनके अच्छे स्वास्थ की पुष्टि की है।

उन्होंने बताया कि उनके पिता ने तथाकथित रूप से वकील से कहा है वह मुक़दमे के दौरान खुद को निर्दोष बतायेंगे।

युआन का यह दावा चीन के विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता द्वारा पिछले महिने पत्रकारों को दिये गए बयान के एकदम विपरीत है, जिसमें कहा गया था कि उन्होंने सभी आरोप स्वीकार लिये हैं।

उनके पुत्र ने कहा कि युआन कमज़ोर नहीं पड़ रहे हैं, और दृढ़ता से अकेले लड़ते हुए सभी झूठे आरोपों से खुद को निर्दोष साबित करने में जुटे हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि उनके पिता निर्दोष साबित होंगे और उन्हें जल्द रिहा कर दिया जाएगा। युआन के पुत्र ने उनके अच्छे स्वास्थ्य की भी कामना की।

होक्काइदो विश्वविद्यालय के प्राध्यापक इवाशिता आकिहिरो भी संवाददाता सम्मेलन में उपस्थित थे। उन्होंने चिंता व्यक्त की कि यदि चीन यात्रा के दौरान शोधकर्ता असुरक्षित महसूस करते हैं तो दोनों देशों के बीच शैक्षिक और बौद्धिक आदान-प्रदान पर बुरा असर पड़ सकता है। उन्होंने जापान सरकार से अनुरोध किया कि वह इस मामले के समाधान में मदद करे।