उड़ान मार्ग बदलने पर बेलारूस की आलोचना

सरकार विरोधी कार्यकर्ता रोमन प्रोतासेविच को हिरासत में लिये जाने के कारण बेलारूस को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से बढ़ती आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। बेलारूस के अधिकारियों ने एक जेट विमान को राजधानी मिन्स्क में उतरने के लिए मजबूर कर विमान में सवार प्रोतासेविच को हिरासत में ले लिया है।

अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन यानि आईसीएओ ने ट्विटर पर कहा कि "विमान की जबरन लैंडिंग से हम बहुत चिंतित थे।"

यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डर लेयेन ने भी ट्विटर पर कहा कि उनके अनुसार "विमान अपहरण" के लिए ज़िम्मेदार लोगों को दण्ड दिया जाना चाहिए।

यूरोपीय परिषद् के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने भी एक वक्तव्य जारी कर कहा, "मैं इस जबरन लैंडिंग की कड़े से कड़े शब्दों में निंदा करता हूँ।"

नाटो महासचिव जेन्स स्टॉलटेनबर्ग ने एक ट्वीट में कहा कि यह घटना गंभीर और खतरनाक थी, और इसकी अंतरराष्ट्रीय जाँच की आवश्यकता है।

अमरीकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने एक वक्तव्य में कहा कि अमरीका प्रोतासेविच की गिरफ़्तारी की कड़ी निंदा करता है।
उन्होंने कहा, "बेलारूसी सुरक्षा सेवाओं की भागीदारी और विमान को उतारने के लिए बेलारूसी सैन्य विमानों के उपयोग का उल्लेख करती प्रारंभिक रिपोर्ट अत्यंत चिंताजनक है और इस मामले की गहराई से जाँच होनी चाहिए।"