70वीं वर्षगाँठ पर चीन ने की तिब्बत नीति की प्रशंसा

चीन सरकार ने तिब्बत में कई दशकों के कम्युनिस्ट पार्टी नेतृत्व की प्रशंसा करते हुए कहा है कि उसने क्षेत्र के आर्थिक विकास और जीवन स्तर के सुधार में सहायता की है।

चीन के अनुसार "तिब्बत की स्वतंत्रता" को रविवार को 70 वर्ष पूरे हो गये। 1951 में चीन की केंद्र सरकार और तिब्बत की तत्कालीन क्षेत्रीय सरकार ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किये थे।

तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र की चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के सचिव वू यिंगजिए ने शनिवार को समाचार सम्मेलन में बात की।

वू ने कहा, "केवल पार्टी नेतृत्व के तहत ही तिब्बत समृद्धि और विकास के मार्ग पर चल सकता है।"

इससे पहले चीन सरकार ने एक श्वेत पत्र जारी कर तिब्बत पर अपनी 7 दशकों की नीति का बचाव किया था।

श्वेत पत्र में पश्चिमी देशों की आलोचना करते हुए कहा गया है, "चीन-विरोधी पश्चिमी देश क्षेत्र की सामाजिक स्थिरता को नष्ट करने के लिए चीन के तिब्बतीय मामलों में दख़ल देते रहे हैं।"

श्वेत पत्र में तिब्बत की शांति और स्थिरता को ख़तरे में डालने वाली घटनाओं को बढ़ावा देने के लिए, निर्वासन में रह रहे 14वें दलाई लामा की निंदा भी की गयी है।

अमरीका ने संदिग्ध मानवाधिकार उल्लंघनों के लिए शिन्च्यांग और हॉन्ग-कॉन्ग के साथ-साथ तिब्बत पर चीन की आलोचना की है।