जापान में भारी वर्षा के लिए अपनाया गया नया पलायन पैमाना

जापान के अधिकारियों ने भारी वर्षा, बाढ़ और भूस्खलन के प्रति चेतावनी के लिए एक नये पाँच-स्तरीय पैमाने का उपयोग गुरुवार से करना आरम्भ कर दिया है।

इस संशोधित पैमाने में प्रमुख बिंदु यह है कि स्तर चार को उस समय के रूप में इंगित किया गया है जब आपदा का उच्च जोख़िम होने पर "सभी लोगों के लिए जगह खाली करना अनिवार्य है।" लोगों को सलाह दी गयी है कि वे अपने पलायन स्थलों के अलावा इस नये पैमाने में समय की भी जाँच करें।

पहले स्तर पर लोगों को मौसम की ताज़ा जानकारी के प्रति सतर्क रहने की सलाह दी गयी है, जबकि दूसरे स्तर पर लोगों को देखना चाहिए कि वे जगह खाली कैसे करें। तीसरे स्तर पर चेतावनी जारी की जाएगी, जिसमें बुज़ुर्गों और शारीरिक रूप से अक्षम लोगों का पलायन आरम्भ करने का आह्वान किया जाएगा।

स्तर चार एक "पलायन आदेश" है, जो ऐसी स्थिति में जारी किया जाएगा जब लोगों को भारी वर्षा से भूस्खलन या बाढ़ के उच्च जोख़िम का सामना करना पड़ेगा। उच्च जोख़िम वाले स्थानों में सभी को तुरंत जगह खाली करनी होगी।

स्तर चार में पहले दो उप-स्तर शामिल थे जिन्हें "पलायन की सलाह" और "पलायन आदेश" के रूप में जाना जाता था। एक "आदेश" किसी "सलाह" की तुलना में अधिक गंभीर था, लेकिन कई लोगों ने इस अंतर को भ्रमित करने वाला पाया इसलिए नयी प्रणाली में दो उप-स्तरों को "पलायन आदेश" में एकीकृत कर दिया गया है।

स्तर पाँच लोगों को "तुरंत सुरक्षा सुनिश्चित करने" की आवश्यकता के बारे में सचेत करता है। यह तब जारी किया जाएगा जब कोई आपदा घटित हो चुकी हो या सन्निकट हो।

स्तर पाँच की चेतावनी उन लोगों के लिए है जो अपने जीवन की रक्षा के लिए स्वयं कुछ करने में देर कर चुके हैं। स्तर पाँच में उनसे आग्रह किया जाता है कि वे घर में सुरक्षित स्थान जैसे कि ऊपरी मंज़िल पर चले जायें या पहाड़ से दूर चले जायें।

ज़रूरी नहीं है कि स्तर पाँच की चेतावनी हमेशा जारी की जाए इसलिए स्तर चार का "पलायन आदेश" जारी होते ही सभी को जगह खाली कर देनी चाहिए और स्तर पाँच की चेतावनी जारी होने का इंतज़ार नहीं करना चाहिए।