म्यांमार में हिरासत में जापानी पत्रकार पर अभियोग

म्यांमार में जापान के दूतावास ने बताया है कि सोमवार को एक जापानी पत्रकार पर फ़र्ज़ी ख़बर फैलाने का आरोप लगाया गया। किताज़ुमि युकि को पिछले महीने देश की सेना ने हिरासत में लिया था।

दूतावास के अधिकारियों ने बताया कि किताज़ुमि पर नागरिकों में चिंता और झूठी ख़बर फैलाने का आरोप है।

18 अप्रैल को सुरक्षा बलों ने किताज़ुमि को यांगोन स्थित उनके घर से गिरफ़्तार किया था। वह तब से शहर की एक जेल में बंद हैं।

अब उन पर मुक़दमा चलाये जाने की आशंका है, जिससे इस बात की चिंता बढ़ गयी है कि उनकी हिरासत अवधि और बढ़ सकती है।

जापानी दूतावास के अधिकारियों का कहना है कि वे म्यांमार के अधिकारियों से किताज़ुमि को रिहा करने का लगातार आह्वान करते हुए अदालती कार्यवाही में उनकी मदद करेंगे।

उन्होंने बताया कि सोमवार को म्यांमार के अधिकारियों ने उन्हें सूचित किया कि किताज़ुमि स्वास्थ्य संबंधी किसी भी समस्या का सामना नहीं कर रहे हैं। लेकिन उन्होंने जोड़ा कि उन्हें अभी तक व्यक्तिगत रूप से किताज़ुमि से मिलने की अनुमति नहीं दी गयी है।

किताज़ुमि जापानी मीडिया केंद्रों के लिए तख़्तापलट विरोधी प्रदर्शनों पर ख़बर दे रहे थे, और सोशल मीडिया पर लेख तथा वीडियो साझा कर रहे थे।