म्यांमार पर आसियान के वक्तव्य का सं.रा. सुरक्षा परिषद् द्वारा स्वागत

म्यांमार की स्थिति का शांतिपूर्ण हल निकालने हेतु दक्षिणपूर्वी एशियाई देशों के संघ यानि आसियान के नेताओं द्वारा सहमत पाँच सूत्रों के त्वरित क्रियान्वयन का आग्रह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् ने किया है।

इंडोनेशिया में पिछले सप्ताह हुई आसियान के नेताओं की बैठक के बाद परिषद् ने शुक्रवार को एक गुप्त ऑनलाइन बैठक की। आसियान के नेताओं द्वारा जारी अध्यक्ष के वक्तव्य में कहा गया है कि वे म्यांमार के लिए “पाँच-सूत्री सर्वसम्मति” पर सहमत हैं।

सुरक्षा परिषद् की बैठक में हिस्सा ले रहे देशों को आसियान के वर्तमान अध्यक्ष और ब्रुनेइ के उप विदेश मंत्री तथा म्यांमार के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष राजदूत क्रिस्टीन श्रैनर बर्जनर ने संबोधित किया।

बर्जनर ने आसियान की बैठक से अलग म्यांमार के सेनाध्यक्ष वरिष्ठ जनरल मिन आँग लाइंग से भेंट की।

यह अभी स्पष्ट नहीं है कि परिषद् की बैठक में क्या चर्चा हुई। लेकिन परिषद् के वर्तमान अध्यक्ष वियतनाम द्वारा जारी प्रेस वक्तव्य में कहा गया है कि चर्चा के मुद्दों पर सभी सदस्य देश सहमत हैं।

वक्तव्य में म्यांमार में “हिंसा के तत्काल अंत के लिए आसियान के आह्वान की महत्ता” पर बल दिया गया है। इस बिंदु को पाँच-सूत्री सर्वसम्मति में भी शामिल किया गया है।

वक्तव्य में “रचनात्मक वार्ता के माध्यम से शांतिपूर्ण और स्थायी हल की दिशा में पहले क़दम के रूप में पाँच-सूत्री सर्वसम्मति को बिना किसी विलम्ब के लागू करने” का आह्वान किया गया है।

वक्तव्य में परिषद् की आशा प्रकट की गयी है कि आसियान के प्रयासों से म्यांमार की स्थिति का हल निकालने में मदद मिलेगी। लेकिन परिषद् म्यांमार में नागरिकों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई रोकने के लिए विशेष उपाय करने में असफल रही।