वायरस-रोधी उपायों की अपील हेतु इंटरनेट पर जारी की गयी लोकप्रिय मान्गा

कोरोनावायरस महामारी के चलते लोगों से संक्रमण-रोधी उपायों की अपील करने के प्रयासों के तहत मानव कोशिकाएँ दर्शाती जापान की एक लोकप्रिय मान्गा को इंटरनेट पर जारी किया गया है।

“सैल्स एट वर्क” के विशेष संस्करण बुधवार से इंटरनेट पर निःशुल्क उपलब्ध हैं। जापान के स्वास्थ्य मंत्रालय और इस कॉमिक शृंखला के प्रकाशक ने ये संस्करण मिलकर तैयार किये हैं।

शिमिज़ु आकाने द्वारा रचित इस मान्गा में कोशिकाओं को साकार रूप में मानव शरीर में काम करते दिखाया गया है। इस मान्गा शृंखला की 50,00,000 से ज़्यादा प्रतियाँ बिक चुकी हैं। विदेशों में भी इसका प्रकाशन किया जा चुका है और इसका एनिमेशन भी किया गया है।

ऑनलाइन उपलब्ध दो अंकों में से एक में नये कोरोनावायरस की विशिष्टताएँ और उससे होने वाले लक्षणों की जानकारी दी गयी है। दूसरे अंक में वायरस-रोधी उपायों के बारे में सचित्र बताया गया है।

शिमिज़ु के अनुसार लेखक को उम्मीद है कि मान्गा से लोगों को प्रतिरक्षा कोशिकाओं, वायरस और संक्रमण क्रियावली के बारे में आसानी से समझाया जा सकेगा।

यह ऑनलाइन मान्गा अगले साल मार्च तक इंटरनेट पर उपलब्ध रहेगी और इसका अंग्रेज़ी तथा हिन्दी अनुवाद शीघ्र ही उपलब्ध होने की भी ख़बर है।