बाइडन – अमरीका फिर से अग्रसर

अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने संसद के संयुक्त सत्र में अपने पहले भाषण के दौरान बुधवार को कहा कि देश "फिर से आगे बढ़ रहा है"।

अपने कार्यकाल के पहले 100 दिनों के दौरान कोरोनावायरस के विरुद्ध जंग में हुई प्रगति पर प्रकाश डालते हुए बाइडन ने अपना संबोधन शुरू किया।

उन्होंने कहा कि अमरीका "संकट को संभावना में, आपदा को अवसर में, नाकामी को ताकत में बदल रहा है"।

इस संकट से उबरने हेतु अपने प्रशासन की विभिन्न उपलब्धियों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि "परिणाम सरकार के सामने हैं"।

उन्होंने अधोसंरचना निर्माण और रोज़गार अर्जित करने के अलावा बच्चों का पालन-पोषण करने वाले परिवारों की सहायता हेतु बड़े पैमाने पर खर्च करने की योजना बनायी है। इन योजनाओं को साकार करने के लिए उन्होंने जनता से समर्थन का आह्वान किया।

श्रमिक-अधिकारों पर बल देते हुए बाइडन ने कहा, "वॉल स्ट्रीट ने इस देश का निर्माण नहीं किया है। इस देश का निर्माण मध्यम वर्ग ने किया है और मध्यम वर्ग का निर्माण श्रमिक संघों ने।"

राजनय और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर बाइडन ने अपने पूर्ववर्ती डोनाल्ड ट्रम्प से बिलकुल विपरीत रुख अपनाते हुए वैश्विक गठबंधन और अंतरराष्ट्रीय सहयोग के महत्त्व पर ज़ोर दिया।

उन्होंने कहा, "आज के समय में कोई भी राष्ट्र आतंकवाद, परमाणु प्रसार, व्यापक पलायन, साइबर सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन और महामारी इत्यादि सभी संकटों से अकेले नहीं निपट सकता है।"