भारत को और मदद देने आगे आया अंतरराष्ट्रीय समुदाय

कोरोनावायरस के मामलों में तेज़ वृद्धि से निपटने के संघर्ष में भारत को मदद देने के लिए विश्वभर की सरकारें और कंपनियाँ लगातार सहायता प्रयासों में जुड़ रही हैं।

भारत में मंगलवार को कोरोनावायरस के 3,20,000 से अधिक नये मामले सामने आये। संक्रमण मामलों की दैनिक संख्या लगातार छठवें दिन 3,00,000 से अधिक रही है।

राजधानी नई दिल्ली में अस्पतालों में आईसीयू बिस्तरों की उपलब्धता कम होती जा रही है और साथ ही चिकित्सकीय ऑक्सीजन आपूर्ति की त्वरित आवश्यकता है।

ब्रिटेन ने रविवार को ऑक्सीजन सांद्रकों और वेंटीलेटर सहित 600 से अधिक चिकित्सकीय उपकरणों की आपूर्ति करने का संकल्प व्यक्त किया। मंगलवार को ब्रिटेन के विदेश मंत्री डॉमिनिक राब ने ट्विटर पर भारत में पहुँची आपूर्ति की पहली खेप की तस्वीरें साझा कीं।

अमरीका, फ़्रांस, जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया भारत को मदद देने वाले अन्य देशों में शामिल हैं।

पड़ोसी देश पाकिस्तान ने भी चिकित्सा सहायता देने की योजना की घोषणा की है। दोनों देशों के बीच कश्मीर क्षेत्र को लेकर दशकों लम्बे विवाद के बावजूद मदद की पेशकश आयी है।

गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुन्दर पिचाई ने कहा है कि कंपनी भारत में महामारी से लड़ने में मदद के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। माइक्रोसॉफ़्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सत्य नडेला ने भी घोषणा की है कि कंपनी अपनी तकनीक का उपयोग करके देश में सहायता प्रयासों में मदद करेगी। इन दोनों व्यक्तियों का जन्म भारत में हुआ था।