सेन्काकु मानचित्रों पर जापान ने चीन के साथ दर्ज किया विरोध

जापान सरकार ने पूर्वी चीन सागर में सेन्काकु द्वीपों पर प्रकाशित स्थलाकृतिक मानचित्रों को लेकर चीन के साथ विरोध दर्ज कराया है।

चीन के प्राकृतिक संसाधन मंत्रालय ने सोमवार को अपनी वेबसाइट पर ये मानचित्र जारी किये थे जिसके बाद जापान के विदेश मंत्रालय ने तोक्यो और पेइचिंग स्थित राजनयिक माध्यमों से अपना विरोध दर्ज कराया।

चीन के मंत्रालय का कहना है कि उसने उपग्रह से प्राप्त नवीनतम छवियों और अन्य सर्वेक्षण परिणामों के आधार पर ये मानचित्र तैयार किये हैं।

वेबसाइट पर जारी 9 छवियों में सेन्काकु द्वीपसमूह के तीन द्वीपों, उओत्सुरि, किताकोजिमा और मिनामिकोजिमा, की स्थलाकृतियाँ शामिल हैं।

जापान का इस द्वीपसमूह पर नियंत्रण है। चीन और ताइवान इस पर अपना दावा करते हैं। जापान सरकार अपने रुख़ पर क़ायम है कि इतिहास और अंतरराष्ट्रीय क़ानून के अंतर्गत यह द्वीपसमूह जापानी भूभाग का अभिन्न अंग है। सरकार का कहना है कि इस पर संप्रभुता का कोई विवाद नहीं है।

चीन इन द्वीपों के आसपास के जलक्षेत्र में अपने सरकारी जहाज़ों की गतिविधियाँ बढ़ाता आया है।

पर्यवेक्षकों के अनुसार चीन ने इन द्वीपों पर अपना दावा मज़बूत करने के उद्देश्य से वेबसाइट पर ये मानचित्र जारी किये हैं।