नेपाल में 2015 के घातक भूकंप की छठी बरसी

नेपाल में 2015 में आये एक शक्तिशाली भूकंप को 6 साल पूरे हो गये हैं। इस आपदा के बाद कई उत्तरजीवी अब भी दुबारा घर बनाने के लिए धन नहीं जुटा पाये हैं।

7.8 तीव्रता के भूकंप तथा उसके बाद आये झटकों में लगभग 9,000 लोगों की जान चली गयी थी।

भूकंप के कारण 9 लाख इमारतों यानि नेपाल की लगभग 20 प्रतिशत इमारतों को क्षति पहुँची थी।

सरकार का कहना है कि पुनर्निमाण प्रयासों में प्रगति हो रही है और भूकंप के बाद से 90 प्रतिशत उत्तरजीवियों को आर्थिक सहायता दी जा चुकी है।

परंतु इस सहायता में क्षतिग्रस्त घरों के पुनर्निमाण की लागत शामिल नहीं है जिस कारण उत्तरजीवी बक़ाया धन जुटाने के लिए संघर्षरत हैं।

काठमांडु के बाहर रहने वाले एक 45 वर्षीय निवासी ने बताया कि उसे अपना चार मंज़िला मकान दुबारा बनवाने के लिए 66,000 डॉलर की आवश्यकता है। उसके मकान का तीसरा तथा चौथा तल भूकंप में क्षतिग्रस्त हो गया था।

उस व्यक्ति ने बताया कि अब तक उसे आवश्यक धन का मात्र 160वाँ भाग ही प्राप्त हो सका है। पुनर्निमाण के लिए आवश्यक धन न जुटा पाने के कारण उसके पास क्षतिग्रस्त घर में रहने के अतिरिक्त कोई विकल्प नहीं है।