हंटर सिंड्रोम के लिए नया उपचार उपलब्ध

बच्चों में होने वाली बीमारी म्यूकोपॉलीसैक्रिडोसिस2 यानि एमपीएस2 के लिए दुनिया का पहला इलाज सोमवार से जापान में उपलब्ध हो जाएगा। इसे हंटर सिंड्रोम के नाम से भी जाना जाता है।

एमपीएस2 एक एंज़ाइम यानि किण्वक की कमी के कारण होता है और बच्चे के शारीरिक तथा मानसिक विकास को प्रभावित करता है। आँकड़ों के अनुसार जापान में इसके 150 से अधिक मामले हैं।

रोगी को एंज़ाइम देने से इस बीमारी की गति को धीमा करने में सहायता मिलती है, लेकिन अब तक एंज़ाइम को मस्तिष्क तक पहुँचाना और मस्तिष्क के विकास की धीमी गति को सुधारना संभव नहीं था।

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य एवं विकास केंद्र के चिकित्सक ओकुयामा तोरायुकि तथा उनके समूह ने इस बीमारी की गति को धीमा करने के लिए उपचार ढूँढ़ लिया है।

इस उपचार में उक्त एंज़ाइम को एक उपकरण के माध्यम से मस्तिष्क में पहुँचाया जाता है।

नैदानिक परीक्षण में भाग लेने वाले एक 7-वर्षीय बच्चे के माता-पिता ने कहा कि वे अपने बच्चे की स्थिति बिगड़ती हुई देखने के अतिरिक्त कुछ भी नहीं कर सकते थे। लेकिन उन्होंने बताया कि अब उसकी स्थिति बेहतर हो रही है तथा वह अपना नाम बोल सकता है।