ब्रिटेन बनाएगा महत्त्वाकांक्षी 78% कार्बन उत्सर्जन कटौती पर क़ानून

ब्रिटेन की सरकार का कहना है कि वह "विश्व के सबसे महत्त्वाकांक्षी" जलवायु परिवर्तन लक्ष्य को क़ानून बनाने जा रही है। ब्रिटेन का लक्ष्य वर्ष 2035 तक कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन में 1990 के स्तर से 78 प्रतिशत की कटौती करना है।

जलवायु परिवर्तन पर एक ऑनलाइन शिखर सम्मेलन से पूर्व मंगलवार को यह घोषणा की गयी। यह कार्यक्रम इसी सप्ताह बाद में आयोजित होगा जिसकी मेज़बानी अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडन करेंगे।

ब्रिटेन की सरकार ने कहा है कि वह जून के अंत तक नये लक्ष्य को क़ानून बना देगी। सरकार ने साथ ही कहा कि इस क़ानून में पहली बार "ब्रिटेन के अंतरराष्ट्रीय विमानन और नौ परिवहन उत्सर्जन को भी शामिल किया जाएगा।"

प्रधानमंत्री बोरिस जॉन्सन ने कहा, "अत्यंत महत्त्वपूर्ण जलवायु सम्मेलन कॉप26 से पहले हम वैश्विक नेताओं को हमारा अनुगमन करते और हमारी महत्त्वाकांक्षा की बराबरी करते देखना चाहते हैं।"

उन्होंने यह भी कहा कि "अगर हम साथ मिलकर काम करेंगे तो पृथ्वी को और हरा भरा तथा सुरक्षित बना देंगे।"

ब्रिटेन नवंबर में कॉप26 के नाम से पहचाने जाने वाले वार्षिक संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन की मेज़बानी करेगा।