चेक गणराज्य करेगा 18 रूसी राजनयिक निष्कासित

चेक गणराज्य ने वर्ष 2014 के आयुध भंडार विस्फोट मामले में रूस का हाथ होने के साक्ष्य का हवाला देते हुए उसके 19 राजनयिकों को निष्कासित करने की घोषणा की है।

चेक गणराज्य के प्रधानमंत्री आन्द्रेइ बाबिश ने शनिवार को संवाददाताओं को बताया कि उनकी सरकार ने रूसी दूतावास के 18 अधिकारियों को 48 घंटे के भीतर देश छोड़ने का आदेश दिया है।

उन्होंने बताया कि 2014 के विस्फोट में रूस के खुफ़िया अधिकारियों की संलिप्तता के स्पष्ट प्रमाण मौजूद हैं। इस घटना में दो लोग मारे गये थे।

रूस की तास समाचार एजेंसी ने विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया ज़ाखारोवा के हवाले से शनिवार को कहा, “प्राग अच्छी तरह से वाकिफ़ है कि इस तरह की चालों का नतीजा क्या होता है।” यह टिप्पणी इस बात का संकेत है कि रूस जवाबी कार्रवाई कर सकता है।