जापान व अमरीका ने लिया मज़बूत गठबंधन का संकल्प

जापान के प्रधानमंत्री सुगा योशिहिदे और अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपनी पहली शिखर बैठक के बाद जारी संयुक्त वक्तव्य में चीन के बढ़ते दावों के बीच आपसी संबंध और प्रगाढ़ बनाने का संकल्प व्यक्त किया है।

वक्तव्य में कहा गया है कि अमरीका-जापान गठबंधन अटूट है तथा स्वतंत्र एवं मुक्त हिंद-प्रशांत क्षेत्र के साझा दृष्टिकोण की ओर अग्रसर है। इसमें कहा गया है कि यह आपसी संबंध जलक्षेत्रों तथा हवाई मार्गों के उपयोग की स्वतंत्रता सहित समुद्री क्षेत्र में साझा मानदंडों को बढ़ावा देता है।

वक्तव्य में कहा गया है कि सुगा और बाइडन ने चीन की उन गतिविधियों पर अपनी चिंता साझा की जो अंतरराष्ट्रीय नियमों के विरुद्ध हैं।

इसमें कहा गया है कि दोनों देश पूर्वी चीन सागर में यथास्थिति बदलने के किसी भी एकतरफ़ा प्रयास का विरोध करते हैं तथा दक्षिण चीन सागर में चीन के अवैध समुद्री दावों और गतिविधियों पर आपत्ति व्यक्त करते हैं।

दोनों नेताओं ने संयुक्त वक्तव्य में कहा कि "हम समूचे ताइवान जलडमरूमध्य में शांति और स्थिरता के महत्त्व को रेखांकित करते हैं और जलडमरूमध्य-पार मुद्दों के शांतिपूर्ण समाधान को प्रोत्साहित करते हैं।

सुगा-बाइडन के वक्तव्य में कहा गया है कि दोनों देश हॉन्ग-कॉन्ग और शिन्च्याँग उइघुर स्वायत्त क्षेत्र में मानवाधिकारों की स्थिति पर गंभीर चिंता साझा करते हैं।

इसमें कहा गया है कि जापान और अमरीका साझा हित वाले क्षेत्रों में चीन के साथ काम करने की आवश्यकता स्वीकारते हुए उसके साथ निर्भीक वार्ता करने और उसे अपनी चिंताओं से अवगत कराने की ज़रूरत समझते हैं।