मृतक श्रीलंकाई महिला की माँ ने की स्पष्टीकरण की मांग

जापान में आव्रजन सेवा केंद्र में हिरासत में हुई एक श्रीलंकाई महिला की मृत्यु के बाद उसकी माँ ने अपनी बेटी की मौत पर स्पष्टीकरण की माँग की है।

मृतक महिला की माँ और उसकी दो छोटी बहनों ने शुक्रवार को वीडियो लिंक के ज़रिए जापान में मीडिया से बात की।

उम्र के तीसरे दशक में चल रही यह महिला 2017 में मान्य वीसा पर जापान आयी थी। इसके दो वर्ष बाद वीसा अवधि समाप्त होने पर आव्रजन अधिकारियों ने उसे हिरासत में ले लिया था। मृत्यु के समय महिला को जापान के मध्यवर्ती शहर नागोया के क्षेत्रीय आव्रजन सेवा केंद्र में हिरासत में रखा गया था।

आव्रजन सेवा केंद्र द्वारा पिछले सप्ताह जारी एक अंतरिम रिपोर्ट में कहा गया है कि महिला ने जनवरी मध्य में मतली और शरीर सुन्न होने की शिकायत की थी। रिपोर्ट के अनुसार जाँच में उसे रिफ़्लेक्स इसोफ़ेगाइटिस और अन्य रोग होने की आशंका व्यक्त की गयी थी, जिसके बाद उसका इलाज किया गया।

संवाददाता सम्मेलन में महिला की माँ ने कहा कि उसकी मृत पुत्री श्रीलंका में अंग्रेज़ी भाषा की शिक्षिका थी और वह इतनी दयालु थी कि ग़रीब बच्चों को निःशुल्क पढ़ाती थी।

माँ ने बताया कि उसकी पुत्री ने अपने एक जापानी छात्र के माध्यम से जापानी संस्कृति के प्रति प्रेम विकसित होने के बाद अंग्रेज़ी सिखाने के लिए जापान जाने का निर्णय किया था। माँ ने कहा कि उसने अपनी बेटी के अकेले विदेश जाने पर आपत्ति व्यक्त की थी, परंतु यह जानने के बाद कि जापान एक सुरक्षित देश है, उसने धन जमा कर पुत्री को यहाँ भेज दिया था।