चुनाव में कोरे मतों को बढ़ावा देने को दंडित करेगा हॉन्ग-कॉन्ग

हॉन्ग-कॉन्ग सरकार ने एक योजना की घोषणा की है जिसके तहत लोगों से चुनावों में कोरे मत डालने का आह्वान करने वालों को आपराधिक सज़ा दी जाएगी।

हॉन्ग-कॉन्ग की मुख्य कार्यकारी कैरी लाम ने मंगलवार को हॉन्ग-कॉन्ग की निर्वाचन व्यवस्था में बड़े बदलाव के चीन के पिछले महीने के निर्णय से संबंधित अध्यादेशों में संशोधनों का ऐलान किया।

संशोधित अध्यादेशों के तहत, टी-शर्ट पहनकर या इंटरनेट संदेशों के ज़रिये कोरे मत डालने की अपील करने वाले लोगों को तीन साल कैद की सज़ा होगी।

समझा जाता है कि नये नियम संशोधित निर्वाचन व्यवस्था के अंतर्गत मतदान में भाग न लेने की सम्भावना और लोकतंत्र समर्थक मतदाताओं द्वारा कोरे मत डालने के खिलाफ़ उपाय हैं।

इस व्यवस्था के अंतर्गत, चुनाव में खड़े होने वाले प्रत्येक उम्मीदवार की एक समिति द्वारा जाँच होगी जिसका हाल में गठन किया गया है। इससे लोकतंत्र समर्थक उम्मीदवारों की संख्या को काफ़ी हद तक नियंत्रित किया जा सकेगा।

हॉन्ग-कॉन्ग की डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता लो किन-हेइ ने कहा कि उन्हें समझ नहीं आ रहा कि कोरे मत डालने की वकालत करना क्यों गैर-कानूनी है। उन्होंने कहा कि सरकार के इस कदम से केवल जनता का रोष बढ़ेगा।

लाम ने यह भी घोषणा की कि सितंबर में विधान परिषद् के योजनाबद्ध चुनाव 19 दिसंबर तक स्थगित कर दिये जाएँगे। उन्होंने कहा कि मुख्य कार्यकारी का चुनाव अगले वर्ष 27 मार्च को होगा।