सरकार ने प्रशोधित जल निस्तारण योजना पर लिया निर्णय

जापान सरकार ने मंगलवार को फ़ुकुशिमा दाइइचि परमाणु बिजली घर के प्रशोधित जल में शुद्ध जल मिला कर उसे राष्ट्रीय मानक से कहीं अधिक सुरक्षित स्तर पर लाने के बाद महासागर में छोड़ने का आधिकारिक निर्णय लिया है।

क्षतिग्रस्त परमाणु संयंत्र से निकले अपशिष्ट जल को परिसर में टंकियों में भंडारित किया जाता है जो अगले वर्ष भर जाएँगी।

अपशिष्ट जल से अधिकांश रेडियोधर्मी पदार्थ हटाने के लिए उसे उन्नत जल प्रसंस्करण प्रणाली यानि एल्पस से प्रशोधित किया जाता है लेकिन उसमें रेडियोधर्मी पदार्थ ट्रिटियम अब भी मौजूद है।

ट्रिटियम की सान्द्रता को राष्ट्रीय मानक के 40वें हिस्से या विश्व स्वास्थ्य संगठन के पेयजल संबंधी मानक के लगभग 7वें हिस्से तक लाने के लिए जलमिश्रित करना आवश्यक है।

सरकार संयंत्र संचालक टैप्को से प्रशोधित जल के निस्तारण हेतु आवश्यक उपकरण 2 वर्ष के भीतर तैयार करने के लिए कहेगी।

देश का मत्स्य उद्योग इस योजना के विरोध में है।