अमरीका, फ़िलीपीन्स ने की द.चीन सागर में चीनी जहाज़ों पर चर्चा

अमरीका तथा फ़िलीपीन्स के रक्षा प्रमुखों ने दक्षिण चीन सागर में चीन की मत्स्य नौकाओं की उपस्थिति पर साझा चिंता व्यक्त की है।

मार्च के आरंभ में पालावान द्वीप के पश्चिमी तट से 300 किलोमीटर दूर लगभग 220 चीनी नौकाएँ लंगर डाले पायी गई थीं। यह द्वीप फ़िलीपीन्स के पश्चिमी भाग में स्थित है। कुछ नौकाएँ अब भी वहीं हैं।

मनीला ने पेइचिंग से यह कहते हुए विरोध दर्ज करवाया है कि उक्त जलक्षेत्र फ़िलीपीन्स के विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र का भाग है।

अमरीका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और उनके फ़िलीपीनी समकक्ष डेल्फ़िन लॉरेन्ज़ाना ने सप्ताहांत के दौरान दूरभाष पर वार्ता की और इस मुद्दे पर अपनी चिंता साझा की।

उन्होंने सहमति जतायी कि दोनों देश नियमित संयुक्त सैन्याभ्यास बहाल करेंगे, जो पिछले वर्ष कोरोनावायरस के कारण रद्द हो गये थे।

अमरीकी पक्ष ने द्विपक्षीय सैन्य तैनाती समझौते की महत्ता पर बल दिया जिसे फ़िलीपीन्स के राष्ट्रपति रोद्रिगो दुतेर्ते समाप्त करने पर विचार कर रहे हैं। अमरीका इसे जारी रखने का आह्वान कर रहा है।

पिछले सप्ताह अमरीकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन और फ़िलीपीनी विदेश मंत्री थियोदोरो लॉक्सिन के बीच दूरभाष पर हुई बातचीत के बाद यह रक्षा वार्ता हुई है।

विदेश मंत्रियों ने दक्षिण चीन सागर में चीनी नौकाओं की उपस्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्हें "समुद्री उग्रवादी नौका" करार दिया। ब्लिंकेन ने पुनर्पुष्टि की कि अमरीका-फ़िलीपीन्स परस्पर रक्षा समझौता दक्षिण चीन सागर पर भी लागू होना चाहिए।