म्यांमार में तख़्तापलट के बाद से मरने वालों की संख्या 600 के पार

म्यांमार के एक मानवाधिकार समूह का कहना है कि 1 फ़रवरी को हुए तख़्तापलट के बाद से सेना द्वारा की जा रही कार्रवाई में 600 से अधिक लोगों की जानें गयी हैं। सेना ने प्रतिष्ठित व्यक्तियों को प्रदर्शन उकसाने के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया है।

प्रदर्शनकारियों ने देश के सबसे बड़े शहर यान्गोन और दक्षिणी शहर दावे सहित देश भर में बृहस्पतिवार को भी सड़कों पर विरोध प्रदर्शन जारी रखा।

राजनैतिक क़ैदी सहायता संघ नामक मानवाधिकार समूह के अनुसार केवल बुधवार को ही 20 से अधिक लोगों की जान गयी, और मरने वालों का आँकड़ा बृहस्पतिवार तक 614 पहुँच गया।

सेना ने सरकारी टेलीविज़न के माध्यम से बृहस्पतिवार को घोषणा की कि उसने पाइन ताखोन को गिरफ़्तार कर लिया है। पाइन ताखोन म्यांमार और थाइलैण्ड में विख्यात एक मॉडल है।

पाइन ताखोन ने तख़्तापलट के विरुद्ध आवाज़ उठायी थी और प्रदर्शनों में भाग लेने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा की थीं।

स्थानीय मीडिया ने उसके परिवार के हवाले से बताया कि सैनिकों और पुलिस ने पाइन ताखोन को उसके घर से बृहस्पतिवार को प्रातः करीब 5 बजे गिरफ़्तार किया।