जापान में 33 वर्षों में सबसे बड़ी औसत वेतन वृद्धि

जापान के सबसे बड़े श्रम संगठन द्वारा किये गए सर्वेक्षण में पाया गया है कि इस वसंत की वेतन वार्ता में श्रमिकों को 33 वर्षों में सबसे अधिक औसत वेतन वृद्धि प्राप्त हुई है।

जापान व्यापार यूनियन परिसंघ यानि रेंगो ने 5,200 से अधिक कंपनियों का सर्वेक्षण किया।

उसे पता चला कि श्रमिक संघों को औसतन 15,281 येन या लगभग 95 डॉलर की मासिक वेतन वृद्धि मिली है। येन मुद्रा में यह 5.1 प्रतिशत की वृद्धि है। इससे पहले यह आँकड़ा 1991 में 5 प्रतिशत से ऊपर रहा था। इस वृद्धि में वरिष्ठता-आधारित वेतन वृद्धि के साथ-साथ मूल-वेतन वृद्धि भी शामिल है।

300 से कम कर्मचारियों वाली लघु और मझौली कंपनियों में औसत वेतन वृद्धि 4.45 प्रतिशत रही। यह 1992 के बाद से सर्वाधिक है, लेकिन 1,000 या उससे अधिक कर्मचारियों वाली बड़ी कंपनियों की तुलना में अब भी कम है।

रेंगो के अधिकारी, निदाइरा आकिरा का कहना है कि वेतन वृद्धि उचित रूप से हो रही है, लेकिन कामकाजी परिवारों की मदद के लिए और अधिक प्रयास करने की आवश्यकता है।

निदाइरा ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा, "कम ही लोग मानते ​हैं कि इस साल की वेतन वृद्धि से उनके जीवन में सुधार हुआ है। हमें लगता है कि वेतन वृद्धि होते रहना महत्त्वपूर्ण है।"

निदाइरा ने कहा कि रेंगो ऐसी परिस्थिति बनाने के लिए काम करेगा जिससे छोटे व्यवसायों के लिए वेतन वृद्धि करना आसान हो जाए।