जापान के मिसावा सैन्य हवाईअड्डे पर पहली हार तैनात होेंगे एफ़-35

अमरीकी रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि वह जापान स्थित सामरिक विमानों की आधुनिकीकरण योजना के तहत पहली बार उत्तरी जापान के मिसावा सैन्य हवाईअड्डे पर एफ़-35 टोही लड़ाकू विमान तैनात करेगा।

पेंटागन ने बुधवार को कहा कि अमरीकी वायुसेना, आओमोरि प्रीफ़ैक्चर के मिसावा अड्डे पर वर्तमान में तैनात 36 एफ़-16 विमानों को हटाकर उनकी जगह 48 एफ़-35 लड़ाकू विमान तैनात करेगी।

एफ़-35 पाँचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमान हैं, जो उन्नत रडार-रोधी क्षमता और दुश्मन के ख़तरों का शीघ्र पता लगाने वाली प्रणाली से लैस हैं।

जापान के वायु आत्मरक्षा बल ने पहले से ही मिसावा सैन्य हवाईअड्डे पर एफ़-35 तैनात कर रखे हैं।

अमरीकी रक्षा मंत्रालय ने यह भी कहा कि अमरीकी वायुसेना दक्षिणी जापान के ओकिनावा प्रीफ़ैक्चर में कादेना सैन्य हवाईअड्डे पर पुराने पड़ रहे 48 एफ़-15 विमानों के स्थान पर 36 उन्नत एफ़-15 विमान तैनात करेगी।

मंत्रालय का कहना है कि आधुनिकीकरण योजना अगले कई वर्षों के दौरान लागू की जाएगी और इसमें 10 अरब डॉलर से अधिक का क्षमता निवेश शामिल होगा।

इसमें कहा गया है कि यह योजना अमरीका-जापान गठबंधन को मज़बूत करेगी, क्षेत्रीय प्रतिरोधकता बढ़ायेगी तथा हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता को मज़बूत करेगी।