पुतिन - रूस व चीन के बीच संबंध 'इतिहास के सबसे अच्छे दौर में'

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मध्य एशियाई देश कज़ाक़िस्तान में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ बैठक के दौरान चीन के साथ, रूस के संबंधों की सराहना करते हुए कहा कि वे पहले से कहीं बेहतर हैं।

यह वार्ता बुधवार को कज़ाक़िस्तान की राजधानी अस्ताना में आयोजित शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन के दौरान हुई।

पुतिन ने वार्ता की शुरुआत करते हुए कहा कि मॉस्को और पेइचिंग के बीच सामरिक सहयोग और संबंध, "इतिहास में अपने सबसे अच्छे दौर से गुज़र रहे हैं।" पुतिन ने कहा कि उनका सहयोग अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र में स्थिरता लाने वाले प्रमुख कारकों में से एक है।

उक्रेन मुद्दे पर यूरोप और अमरीका के साथ बढ़ते टकराव के मद्देनज़र पुतिन ने चीन के साथ एकजुटता का प्रदर्शन किया।

इस बीच, चीनी विदेश मंत्रालय ने ख़ुलासा किया कि शी ने रूस के साथ सहयोग को बढ़ावा देने की इच्छा व्यक्त की है। मंत्रालय ने जोड़ा कि चीन और रूस को अपनी व्यापक साझेदारी क़ायम रखते हुए बाहरी हस्तक्षेप का विरोध करना चाहिए।

शी ने कहा कि दोनों पक्षों को क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता बनाये रखने हेतु मिलकर प्रयास करने चाहिए।

उन्होंने कहा कि चीन, प्रमुख क्षेत्रीय मुद्दों को राजनैतिक रूप से हल करने के लिए सक्रिय प्रयास करने का इरादा रखता है।

इस टिप्पणी से पता चलता है कि चीन, अपने दृष्टिकोण के मुताबिक़ उक्रेन मुद्दे पर क़दम उठायेगा, जो पश्चिमी नेतृत्व वाली अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था से भिन्न है।