सरकारी समिति का औद्योगिक स्पर्धात्मक क्षमता बढ़ाने का आह्वान

जापान सरकार की एक विशेषज्ञ समिति का कहना है कि अर्थव्यवस्था को जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता कम करते हुए, अधिक उत्पादक और प्रतिस्पर्धी बनने की आवश्यकता है। जापान के पिछले तीन वर्षों के व्यापार घाटे से जुड़ी एक रिपोर्ट में ये अनुशंसाएँ शामिल हैं।

वित्त मंत्रालय की आर्थिक विशेषज्ञ समिति के अनुसार, पहले इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के निर्यात से अर्थव्यवस्था को बल मिलता था। लेकिन वित्त वर्ष 2022 से इनका मूल्य आयातित इलेक्ट्रॉनिक्स से कम हो गया है।

इसमें कहा गया है कि घरेलू उद्योगों को अपनी उत्पादकता बढ़ाकर तथा ज़्यादा लचीले श्रम बाज़ार को बढ़ावा देकर, अधिक प्रतिस्पर्धी बनना चाहिए।

रिपोर्ट में ऊर्जा आयात में वृद्धि को व्यापार घाटे का मुख्य कारण बताया गया है। इसमें निर्भरता कम करने के लिए अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देने की सिफ़ारिश की गयी है।

रिपोर्ट में, बंद पड़े परमाणु ऊर्जा संयंत्रों की सुरक्षा सुनिश्चित कर, उनका संचालन पुनः शुरू करने का भी समर्थन किया गया है।

समिति ने घरेलू उद्योगों के उदारीकरण के महत्त्व पर बल दिया ताकि वे देश में अधिक निवेश करें।